बिजली विभाग के DHFL पीएफ घोटाले की जांच टीम में, शामिल हुए कुलकर्णी

बिजली विभाग के DHFL पीएफ घोटाले की जांच टीम में, शामिल हुए कुलकर्णी

बिजली विभाग के DHFL पीएफ घोटाले की जांच टीम में, शामिल हुए कुलकर्णी

Posted by: , Updated: 07/11/19 06:01:28pm


लखनऊ। उत्तर प्रदेश पॉवर कारपोरेशन लिमिटेड (यूपीपीसीएल) के पीएफ घोटाले की जांच में तेजी आती दिख रही है  मामले में पूर्व एमडी एपी मिश्रा के साथ दो और अफसर गिरफ्तार हो चुके हैं और तीन दिन की पुलिस रिमांड पर हैं. वहीं अब योगी सरकार ने आईपीएस आनंद कुलकर्णी  को एसएसपी, ईओडब्ल्यू (SSP, EOW) बना दिया है जो की.लंबे समय से खाली चल रह था 

इसे भी पढे: अयोध्या फैसले के मद्देनजर लखनऊ महोत्सव को लेकर लिया गया यह निर्णय

कुलकर्णी की अगुवाई में  इस घोटाले की जांच ईओडब्ल्यू करेगी. बात दें हाल ही में आनंद कुलकर्णी को वाराणसी के एसएसपी पद से स्थानांतरित किया गया था.आनंद कुलकर्णी को तेज तर्रार आईपीएस माना जाता है.बता दें की  मामले में गिरफ्तार पूर्व एमडी एपी मिश्रा को कोर्ट ने तीन दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है. पुलिस को 7 नवंबर की सुबह 10 बजे से 10 नवंबर सुबह 10 बजे तक की रिमांड मिली है. तत्कालीन यूपीपीसीएल एमडी एपी मिश्रा आज रात जेल में ही रहे. बता दें ईओडब्ल्यू ने एपी मिश्रा की 7 दिन की कस्टडी रिमांड की अर्ज़ी दी थी लेकिन कोर्ट ने तीन दिन की रिमांड ही मंजूर की. एपी मिश्रा को मंगलवार को कई घंटे की पूछताछ के बाद ईओडब्ल्यू ने गिरफ्तार किया

इसे भी पढे :  लखनऊ नगर निगम कर्मचारी संयुक्त मोर्चा का किया गया गठन

वहीं मामले में गिरफ्तार सुधांशु द्विवेदी और पीके गुप्ता को कोर्ट ने 3 दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड पर भेज दिया है. मामले की जांच कर रही ईओडब्ल्यू को बुधवार शाम 4 बजे से 9 नवंबर शाम 4 बजे तक की रिमांड मिली है. ईओडब्ल्यू ने वैसे इन दोनों की भी 7 दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड मांगी थी लेकिन सिविल जज जूनियर डिविजन ने तीन दिन की रिमांड ही मंजूर की 

Recent Comments

Leave a comment

Top