महाराष्ट्र: सियासी संकट में सरकार गठन के ये चार समाधान

महाराष्ट्र: सियासी संकट में सरकार गठन के ये चार समाधान

महाराष्ट्र: सियासी संकट में सरकार गठन के ये चार समाधान

Posted by: Mr. Diwakar Pathak, Updated: 08/11/19 10:57:25am


मुंबई। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव का नतीजा आए दो हफ्तों से ज्यादा समय  बीतने के बावजूद सरकार नहीं बनी है। बृहस्पतिवार को भी भाजपा नेताओं ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से सिर्फ मुलाकात की, सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया।वहीं, विधायक दल की बैठक के बाद शिवसेना ने भाजपा को सरकार बनाने की चुनौती दी और अपने विधायकों को मुंबई के एक होटल में भेज दिया। 
अब सरकार गठन केचार विकल्प बचते है।

 इसे भी पढ़े : गृह मंत्रालय ने जारी की एडवाइजरी, सभी राज्यों को अलर्ट रहने के निर्देश

1- कोई एक झुके: शिवसेना-भाजपा में से कोई एक जिद छोड़े तो गठबंधन  सरकार बनशक्ती है।

2- अल्पमत सरकार : 288 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के 105 विधायक हैं। बहुमत के लिए 145 विधायक चाहिए। भाजपा निर्दलीय सहित अन्य 29 विधायकों को साथ कर ले तो संख्या 134 हो जाएगी। बहुमत परीक्षण के दौरान सदन से विरोधी दलों के 21 विधायक गैरहाजिर रहें तो संख्या 267 होगी और बहुमत का जरूरी आंकड़ा 134 हो जाएगा। 

3- शिवसेना में टूट : 56 विधायकों वाली शिवसेना के 45 विधायक टूटकर भाजपा का साथ दें तो संख्या दो-तिहाई से ज्यादा होगी। दल-बदल कानून लागू नहीं होगा।
4- नया गठबंधन : शिवसेना (56)  एनसीपी (54) के साथ गठबंधन सरकार बनाए। कांग्रेस (44) बाहर से समर्थन दे। ऐसे में आंकड़ा 154 होगा।

Recent Comments

Leave a comment

Top