विशेष: जनप्रतिनिधियों के खिलाफ दर्ज मुकदमों की सुनवाई अब कानपुर की विशेष अदालत में होगी

विशेष: जनप्रतिनिधियों के खिलाफ दर्ज मुकदमों की सुनवाई अब कानपुर की विशेष अदालत में होगी

विशेष: जनप्रतिनिधियों के खिलाफ दर्ज मुकदमों की सुनवाई अब कानपुर की विशेष अदालत में होगी

Posted by: Mrs. Pooja Jha, Updated: 17/11/19 03:55:18pm


जनप्रतिनिधियों के खिलाफ दर्ज मुकदमों की सुनवाई अब कानपुर की विशेष अदालत में शुरू हो गई है। अपर जिला जज-11 बालकृष्ण एन. रंजन को विशेष न्यायाधीश के रूप में मुकदमों की सुनवाई का जिम्मा सौंपा गया है। इलाहाबाद की विशेष अदालत से कानपुर के 21 मुकदमों की फाइलें वापस भेजी गई हैं।

इलाहाबाद में मुकदमों की सुनवाई के दौरान लगभग सभी फाइलों में अभियुक्तों और गवाहों के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी हुए थे, लेकिन तामीली एक की भी नहीं हुई। मुकदमों के जल्द निस्तारण के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद एडीजे-11 ने एसएसपी को नोटिस भेजकर अभियुक्तों और गवाहों को कोर्ट में हाजिर करने के आदेश दिए हैं।
 

इसे भी पढ़े :  नीले गगन को चले- जम्‍मू कश्‍मीर और लद्दाख, ये है यहां के डेवलेपमेंट का रोड मैप

राकेश सचान पर सबसे ज्यादा केस-

फतेहपुर से सांसद रहे कांग्रेस नेता राकेश सचान पर सर्वाधिक पांच मुकदमे हैं। बिठूर से भाजपा विधायक अभिजीत सिंह सांगा और हमीरपुर से भाजपा से विधायक रहे अशोक सिंह चंदेल पर तीन-तीन मुकदमे, सपा से एमएलसी रहे लालसिंह तोमर और आर्यनगर से सपा विधायक अमिताभ बाजपेई पर दो-दो मुकदमे दर्ज हैं। सीसामऊ से सपा विधायक इरफान सोलंकी पर एक मुकदमा है। इसके अलावा अभयराज सिंह चंदेल, संजय निषाद, विजय बहादुर, दिलीप कुमार और कल्लू के खिलाफ भी एक-एक मुकदमा है। 

इसे भी पढ़े :  अप्रैल 2020 से शुरू हो सकता है अयोध्या में, राम मंदिर का निर्माण कार्य

इन मुकदमों में कोर्ट ने दी तारीख-
सहायक शासकीय अधिवक्ता रामकुमारी भट्ट ने बताया कि बिठूर थाने में वर्ष-2007 में अमिताभ बाजपेई, 2012 में विजय बहादुर और कोतवाली में 2009 में संजय निषाद के खिलाफ दर्ज मुकदमों में कोर्ट ने 21 नवंबर को अभियुक्तों व गवाहों को हाजिर करने को कहा है। वहीं, राकेश सचान के खिलाफ दर्ज पांचों मुकदमों में 23 नवंबर को हाजिर होने के निर्देश दिए हैं।
विज्ञापन

add image

Recent Comments

Leave a comment

Top