होमगार्ड वेतन घोटाला : राज नारायण समेत 5 बड़े अफसर गिरफ्तार

होमगार्ड वेतन घोटाला : राज नारायण समेत 5 बड़े अफसर गिरफ्तार

होमगार्ड वेतन घोटाला : राज नारायण समेत 5 बड़े अफसर गिरफ्तार

Posted by: , Updated: 20/11/19 12:52:35pm


ग्रेटर नोएडा। नोएडा में फर्जी दस्तावेज़ तैयार कर गौतमबुद्धनगर में होमगार्डों के वेतन में हुए लाखों के घोटाले की जांच के दौरान बड़ी कामयाबी मिली है। होमगार्ड वेतन घोटाले में 5 बड़ी गिरफ्तारियां हुई हैं। इनमें एडीसी सतीश, 2 प्लाटून कमांडर शैलेन्द्र, मोंटू और सतवीर और तत्कालीन होमगार्ड कमाण्डेंट राज नारायण चौरसिया भी गिरफ्तार हुए हैं। मालूम हो की राज नारायण चौरसिया अलीगढ़ में तैनात हैं। ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर स्थित पुलिस मुख्यालय में आरोपितों की गिरफ्तारी के संबंध में दोपहर में प्रेस वार्ता होगी, जिसमें कई अन्य बातों को खुलासा किया जाएगा। इससे पहले सूरजपुर स्थित जिला कमांडेंट होमगार्ड कार्यालय के एक बक्से में सोमवार रात आग लग गई। पुलिस जांच में पता चला है कि साजिशन उसी बक्से में आग लगाई गई, जिसमें होमगार्ड वेतन घोटाले से जुड़े कागजात रखे थे।

 इसे भी पढ़े : जाने: UP Cabinet के १० अहम् फैसले

आशंका है कि घोटाले में जिन आरोपितों की गर्दन फंस रही थी। उन लोगों ने साक्ष्य मिटाने के लिए मस्टर रोल जलाए हैं। आग लगने की घटना के बाद मुख्यमंत्री कार्यालय तक हड़कंप मच गया है। एसएसपी वैभव कृष्ण, एसपी सिटी विनीत जायसवाल सहित कई अन्य अधिकारियों ने घटनास्थल का मौका मुआयना किया। मामले में सूरजपुर इंस्पेक्टर जितेंद्र सिंह की तरफ से अज्ञात आरोपितों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। तीन लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। इसमें एडीसी टू कमांडेंट व दो होमगार्ड शामिल हैं। इसके साथ ही एसएसपी ने एक एसआइटी टीम का गठन किया हैं। इसमें एसपी सिटी विनीत जायसवाल भी रहेंगे।

 इसे भी पढ़े : यूपी: यातायात माह के तहत सड़क हादसे में मारे गए लोगों को पुलिस ओर विधायक राजा बाला ने दी श्रद्धाजंलि

सूरजपुर कोतवाली क्षेत्र में कलक्ट्रेट के समीप स्थित जिला कमांडेंट होमगार्ड कार्यालय में मंगलवार सुबह सफाई करने पहुंचे कर्मी ने पुलिस को सूचना दी कि कार्यालय में आग लगी हुई है। पुलिस जब पहुंची तो एक बक्से के कागज जलकर राख हो चुके थे। 2014 के बाद के कागजात उस बक्से में रखने की बात सामने आई है। मंगलवार सुबह विभाग की तरफ से पुलिस अधिकारियों को आग की जानकारी दी गई। पुलिस ने दावा किया है कि आपराधिक कृत्य के तहत आग जानबूझ कर लगाई गई है। इसमें किसी ऐसे व्यक्ति की भूमिका है जो कि घोटाले में शामिल है। बता दें कि एसएसपी वैभव कृष्ण से जुलाई में एक होमगार्ड ने फर्जीवाड़ा कर होमगार्डो के ड्यूटी का फर्जी दस्तावेज़ तैयार कर भुगतान की शिकायत की थी।

 इसे भी पढ़े : प्रशासन ने कांशीराम कालोनी में अपात्रों से खाली कराए आवास,  कालोनी में मचा हड़कंप

एसएसपी के निर्देश पर एसपी सिटी विनीत जायसवाल ने प्राथमिक जांच की थी। केवल मई व जून की शहर की सात कोतवाली की हुई जांच में ही बड़े स्तर पर ड्यूटी के दस्तावेज़ में गड़बड़ियां मिली थीं, सात लाख से अधिक फर्जी भुगतान पकड़ा गया था। फर्जी कागज तैयार कर हुए भुगतान में करीब 50 फीसद से अधिक फर्जी ड्यूटी पकड़ी गई थीं और फर्जी मस्टर रोल बनाने में फर्जी मोहरों के इस्तेमाल की बातें सामने आई थी। जिसके बाद एसएसपी ने इसकी शिकायत शासन स्तर पर की थी। फर्जीवाड़े की जांच को शासन स्तर से एक कमेटी गठित की गई थी व उस कमेटी ने भी जांच की थी।

जुड़े हमारे फेसबुक पेज से- https://www.facebook.com/firsteyenws/
ट्विटर पर हमें फॉलो करें- https://twitter.com/firsteyenewslko
सब्सक्राइब करें हमारा यूट्यूब चैनल-https://www.youtube.com/channel/UChwj7_fqaFUS-jghSBkwtDw

Recent Comments

Leave a comment

Top