सोशल मीडिया का दुरुपयोग कर रहे लश्कर

सोशल मीडिया का दुरुपयोग कर रहे लश्कर

सोशल मीडिया का दुरुपयोग कर रहे लश्कर

Posted by: Firsteye Desk, Updated: 20/11/19 04:27:09pm


 भारत ने संयुक्त राष्ट्र (यूएन) और संघाई कॉपरेशन आर्गेनाइजेशन (एससीओ) के साझा कार्यक्रम में वैश्विक आतंक के मुद्दे पर बात रखी। यूएन में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैय्यद अकबरुद्दीन ने मंगलवार को न्यूयॉर्क में चल रहे सम्मेलन में आए देशों से आतंकी संगठनों और उनकी आर्थिक गतिविधियों पर शून्य सहिष्णुता रखने का आवाह्न किया। सम्मेलन का आयोजन आतंक, तस्करी एवं अन्य अपराधों के विषय पर चर्चा करने के लिए किया जा रहा है। अकबरुद्दीन ने सम्मेलन में कहा कि खतरे से निपटने के लिए दोहरा मानक अपनाने के बदले वैश्विक समुदाय को साथ मिलकर नए ट्रेंड और टेक्नोलोजी से आगे चलने की जरुरत है।

दुनिया की सबसे छोटी कद की महिला ज्योति आम्गे के घर पर हुई चोरी 

कार्यक्रम में बोलते हुए सैयद अकबरुद्दीन ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र में नामित आईएसआईएल, अल-शबाब, अल-कायदा, बोको हराम, लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए- मोहम्मद जैसे आतंकवादी संगठन सीमा पार से मिल रही आर्थिक मदद, प्रचार और आतंकी भर्तियां कर पूरे इलाके को अस्थिर करने में लगे हुए हैं। इनआतंकियों के निशाने पर साइबर स्पेस और सोशल मीडिया जैसे साधन भी है।

सांप को रस्सी बनाकर रस्सी कूद खेलते दिखे बच्चे, वीडियो हुई तेजी से वायरल 

 जिनका यह खतरनाक इस्तेमाल कर रहे हैं। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के महत्व का जिक्र करते हुए उन्होने कहा कि एससीओ का क्षेत्रीय आतंकवाद विरोधी ढांचा आतंकवाद और ड्रग्स के खिलाफ समन्वित कार्रवाई के लिए एक उपयोगी तंत्र है। उन्होने कहा कि हम अवैध नारकोटिक-ट्रैफिकिंग का मुकाबला करने के लिए यूएनओडीसी और मध्य एशियाई क्षेत्रीय सूचना और समन्वय केंद्र के साथ एससीओ के सहयोग के विस्तार का स्वागत करते हैं।

Recent Comments

Leave a comment

Top