अब एम्स में मरीजों को एयरलिफ्ट कर भर्ती कराया जा सकेगा 

अब एम्स में मरीजों को एयरलिफ्ट कर भर्ती कराया जा सकेगा 

अब एम्स में मरीजों को एयरलिफ्ट कर भर्ती कराया जा सकेगा 

Posted by: , Updated: 20/11/19 05:28:51pm


नईदिल्ली। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के ट्रामा सेंटर की छत पर हेलीपैड बनाए जाने का काम अब अंतिम चरण में पहुंच चुका है। हेलीपैड तैयार हो जाने के बाद एम्स देश का पहला सरकारी अस्पताल होगा, जहां हादसे में घायल लोगों और गंभीर रूप से बीमार मरीजों को एयरलिफ्ट कर भर्ती कराया जा सकेगा। 

इसे भी पढ़ें-  सांप को रस्सी बनाकर रस्सी कूद खेलते दिखे बच्चे, वीडियो हुई तेजी से वायरल 

उम्मीद की जा रही है अगले साल के शुरुआत में ही इस सुविधा को मंजूरी मिल जाएगी। बताया जा रहा है कि एक महीने के अंदर ही नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) से इसकी मंजूरी के लिए आवेदन किया जाएगा।अस्पताल डीजीसीए से हेलीपैड की मंजूरी लेने के लिए तेजी से काम कर रहा है. इस हेलीपैड के चालू हो जाने के बाद गंभीर रूप से बीमार मरीजों को सड़क से सफर नहीं करना होगा बल्कि उन्हें एयरलिफ्ट कर कम समय में एम्स में भर्ती किया जा सकेगा। कई बार दूर-दराज इलाकों से मरीजों को सड़क मार्ग से लाने में काफी दिक्कत होती है। ऐसे में इन मरीजों को एयरलिफ्ट कर तुरंत एम्स में भर्ती कराया जा सकेगा। 

इसे भी पढ़ें-  KBC: शो में पूछा गया मनमोहन सिंह पर 6 लाख 40 हजार का ये सवाल

अभी तक मरीजों को कम समय में एम्स तक लाने के लिए अरबिंदो मार्ग के नीचे बने भूमिगत सुरंग वाले रास्ते का इस्तेमाल किया जाता है। यह मार्ग पूर्वी अंसारी नगर में एम्स के मुख्य परिसर को जोड़ता था। डीजीसीए ने पहले हेलीपैड बनाए जाने पर कुछ बिंदुओं पर आपत्ति दर्ज कराई थी, जिसे बाद में दूर कर लिया गया। बताया जा रहा है कि एम्स में बन रहे हेलीपैड को बनाने में उन सभी मानदंडो का खयाल रखा गया है जिसके बारे में डीजीसीए ने जानकारी दी थी। 

जुड़े हमारे फेसबुक पेज से- https://www.facebook.com/firsteyenws/
ट्विटर पर हमें फॉलो करें- https://twitter.com/firsteyenewslko
सब्सक्राइब करें हमारा यूट्यूब चैनल-https://www.youtube.com/channel/UChwj7_fqaFUS-jghSBkwtDw

Recent Comments

Leave a comment

Top