प्याज ने रूलाया, पेट्रोल ने तरसाया, दूध पर भी महंगाई का साया

प्याज ने रूलाया, पेट्रोल ने तरसाया, दूध पर भी महंगाई का साया

प्याज ने रूलाया, पेट्रोल ने तरसाया, दूध पर भी महंगाई का साया

Posted by: Mrs. Pooja Jha, Updated: 22/11/19 11:14:17am


किसी भी देश के आम नागरिकों के लिए बढ़ती हुई महंगाई एक बेहद गंभीर समस्या हो सकती है, देश विकसित हो व विकासशील हर आदमी बढ़ती हुई महंगाई से परेशान हो साकता है। देश के नागरिक को पहले महंगे प्याज और पेट्रोल से परेशान होना पड़ा और अब दूध की मार झेलनी पड़ेगी। झारखंड समेत देश के कई राज्यों में जल्द ही दूध की कीमतें बढ़ सकती हैं। 

झारखंड में सर्वाधिक रूप से दूध की सप्लाई बिहार से होती है, पर गत दिनों आई बाढ़ से बिहार अबतक उबर नहीं सका है, मसलन बिहार के समस्तीपुर, मुजफ्फरपुर, बरौनी, दरभंगा से आने वाले से दूध की आवक 20 प्रतिशत तक घट गई है। इससे झारखंड समेत, बिहार, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़ में भी दूध की काफी किल्लत होने लगी है। आलम ये है कि झारखंड में प्रमुख डेयरी फॉर्म सुधा, ओशम, अमूल आदि की दिन में एक वक्त ही सप्लाई हो पा रही है।

ये भी पढ़ें-  एनीमेशन जगत की सबसे बड़ी फिल्म- परी कथाओं का सारा करिश्मा समेट लाई फ्रोजेन 2, देखे तस्वीरें

बिहार से आवक कम होने के कारण अब झारखंड के डेयरी फॉर्म महाराष्ट्र से दूध मंगाने की तैयारी में हैं। इसके लिए ऑडर्र भी दे दिया गया है। बिहार की तुलना में महाराष्ट्र से दूध मंगाने में ट्रांसपोर्टेशन चार्ज ज्यादा है। ऐसे में डेयरी फॉर्म दूध की कीमतों में दो से चार रुपये प्रति लीटर का इजाफा करने की तैयारी में हैं।

मिल्क पाउडर तक बाजार से गायब
दूध की आवक कम होने से बाजार में मिल्क पाउडर भी बमुश्किल मिल रहा है। पहले से बचा स्टॉक ही कुछ दुकानों से बेचा जा रहा है, पर फुटकर दुकानदारों की मानें तो कई दिनों से मिल्क पाउडर का भी स्टॉक नहीं आ रहा है।

लगन में कमर तोड़ेगी महंगाई
19 नवंबर से लगन शुरू हो चुका है। लगन में दूध और प्याज की खपत अधिक होती है। ऐसे में निश्चित है कि दूध और प्याज की कीमतें बढ़ने से लोगों को बजट से अधिक खर्च उठाना पड़ेगा।

ये भी पढ़ें-1 करोड़ 46 लाख में बिका यह अनोखा बैग, जानें इसकी खासियत

जमशेदपुर में रोज दो से सवा दो लाख लीटर दूध की खपत
जमशेदपुर और आसपास के क्षेत्रों को मिलाकर रोज लगभग दो से सवा दो लाख लीटर दूध की खपत होती है। इसमें से सर्वाधिक लगभग डेढ़ लाख लीटर दूध की सप्लाई सुधा डेयरी द्वारा की जाती है। इसके अलावा ओशम, अमूल और खटालों द्वारा दूध की बिक्री की जाती है। हालांकि लग्न के कारण खपत लगभग 25-30 प्रतिशत तक बढ़ गई है। 

झारखंड समेत आसपास के राज्यों में दूध की किल्लत है। बिहार में बाढ़ के कारण सप्लाई घट गई है। महाराष्ट्र व दूसरे राज्यों से दूध मंगाया जा रहा है। ट्रांसपोर्टेशन कॉस्ट अधिक होने से संभवत: दूध की कीमत बढ़ानी पड़ सकती है। दो से तीन दिन में दूसरे राज्यों से सप्लाई आने के साथ दूध की किल्लत दूर हो जाएगी।

जुड़े हमारे फेसबुक पेज से- https://www.facebook.com/firsteyenws/
ट्विटर पर हमें फॉलो करें- https://twitter.com/firsteyenewslko
सब्सक्राइब करें हमारा यूट्यूब चैनल-https://www.youtube.com/channel/UChwj7_fqaFUS-jghSBkwtDw

add image

Recent Comments

Leave a comment

Top