तेलुभाषी महिलाएं नवंबर और दिसंबर में करेंगी महालक्ष्मी पूजन, मार्गशिरा मास 27 से प्रारंभ

तेलुभाषी महिलाएं नवंबर और दिसंबर में करेंगी महालक्ष्मी पूजन, मार्गशिरा मास 27 से प्रारंभ

तेलुभाषी महिलाएं नवंबर और दिसंबर में करेंगी महालक्ष्मी पूजन, मार्गशिरा मास 27 से प्रारंभ

Posted by: Mrs. Pooja Jha, Updated: 22/11/19 01:25:58pm


तेलुभाषी महिलाएं नवंबर और दिसंबर में महालक्ष्मी पूजा करेंगी। 24 दिसंबर तक पांच गुरुवार को अलग-अलग नैवेद चढ़ाएंगी। आंध्रभक्त श्रीराम मंदिरम बिष्टूपुर में मध्य दिसंबर में विशेष पूजा होगी। सुहागिन स्त्रियां पति की लंबी उम्र और परिवार की सुख समृद्धि की कामना करेंगी।

इसे भी पढ़ें-  अब अलीगढ़ का नाम बदलने की तैयारी !

मार्गशिरा मास 27 से प्रारंभ
पुजारी जी शास्त्री ने बताया कि तेलुगु पंचांग के अनुसार, कार्तिक मास 26 नवंबर तक है। मंगलवार को अमावस्या है। 27 नवंबर से मार्गशिरा मास प्रारंभ होगा, जो 25 दिसंबर तक रहेगा। स्नानादि के बाद सुबह घरों में पूजा होगी। शाम में कथा श्रवण के बाद आरती होगी। गुरुवार को कुमकुम पूजा होगी।

इसे भी पढ़ें-  प्रदूषण के मामले में टॉप 10 की लिस्ट से बाहर हुआ दिल्ली, देखें अन्य शहरों की लिस्ट 

बेटी नहीं होती पूजा में शामिल
आंध्र महिला समिति की सलाहकार दुर्गा राव ने बताया कि इस पूजा की खासियत है कि इसमें बेटियां शामिल नहीं होती हैं। सास और बहू मिलकर पूजा करती हैं। हर गुरुवार को तेलुगु समाज के परिवार में श्रद्धा से पूजा होगी। महालक्ष्मी की पूजा से धन, धान्य और सौभाग्य की प्राप्ति होती है। जाप, कथावाचन और अलग अलग नैवेद का चढ़ाया जाएगा।

जुड़े हमारे फेसबुक पेज से- https://www.facebook.com/firsteyenws/
ट्विटर पर हमें फॉलो करें- https://twitter.com/firsteyenewslko
सब्सक्राइब करें हमारा यूट्यूब चैनल-https://www.youtube.com/channel/UChwj7_fqaFUS-jghSBkwtDw

 

add image

Recent Comments

Leave a comment

Top