लखनऊ: खाद्य एवं रसद विभाग के गोदाम पर कालाबाजारी और धांधली की शिकायतों के बाद एसडीएम की छापेमारी

लखनऊ: खाद्य एवं रसद विभाग के गोदाम पर कालाबाजारी और धांधली की शिकायतों के बाद एसडीएम की छापेमारी

लखनऊ: खाद्य एवं रसद विभाग के गोदाम पर कालाबाजारी और धांधली की शिकायतों के बाद एसडीएम की छापेमारी

Posted by: Firsteye Desk, Updated: 25/11/19 06:48:02pm


लखनऊ। बीकेटी स्थित खाद एवं रसद विभाग के गोदाम पर कालाबाजारी और धांधली की शिकायतों के बाद सोमवार को एसडीएम ने छापा मारा। इसी गोदाम से क्षेत्र भर के कोटदोरों को राशन आपूर्ति होती है। लेकिन पिछले काफी समय से गोदाम से कोटेदारों को भेजी जाने जाने वाली बोरियों में राशन की कटौती हो रही थी। एसडीएम प्रफुल्ल त्रिपाठी ने सोमवार को गोदाम पर छापा मारकर तमाम बारीकियां परखीं। एसडीएम ने पूरे गोदाम का निरीक्षण किया। 

इसे भी पढ़ें-68500 भर्ती के लिए 28 नवंबर से फिर से आवेदन शुरू

मौके पर मौजूद कोटेदारों ने बताया कि कोई भी कोटेदार गोदाम प्रभारी संतुष्ट नहीं है। यहां से हाथ से सिली हुई बोरियां कोटेदारों को भेजी जाती है। गोदाम का कांटा भी बंद पड़ा है। जिसके चलते राशन की तौल पास में ही बीरेन्द्र धर्म कांटा पर करानी पड.ती है। कोटेदारों का आरोप है कि निजी धर्म कांटा भी घटतौली होती है। गेहूं, चावल की बोरियों अनाज निकाल कर फिर से उन्हें हांथ से सिल दिया जाता है और यही बोरियां कोटेदारों को भेज दी जाती हैं। गोदाम पर एसडीएम के छापे की खबर सुनकर कई मजदूर मौके से भाग निकले। 

इसे भी पढ़ें-अब SBI ग्राहक इतनी बार ही मुफ्त में एटीएम से निकाल पाएंगे पैसा

कोटेदारों का आरोप है कि हर ट्रैक्टर ट्राली पर हांथ से सिली हुई करीब 8 से 10 बोरियां होती हैं। मौके पर मौजूद एक किसान ने बताया कि यहां धान बेचने के लिए भी 10 से 15 दिन लग जाते हैं। रजिस्टेशन से लेकर क्रय होने तक 15 दिन लगने से किसान परेशान हो जाते हैं। किसान ने कहा, हमारा सारा समय धान बेचने में ही खत्म हो जाता है, इसलिए अगली फसल के लिए खेत तैयार करने में देर हो जाती है।

जुड़े हमारे फेसबुक पेज से- https://www.facebook.com/firsteyenws/
ट्विटर पर हमें फॉलो करें- https://twitter.com/firsteyenewslko
सब्सक्राइब करें हमारा यूट्यूब चैनल-https://www.youtube.com/channel/UChwj7_fqaFUS-jghSBkwtDw

Recent Comments

Leave a comment

Top