महाराष्ट्र: सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद महाराष्ट्र में बदली राजनीतिक तस्वीर, अब पांच बजे चुनेंगे गठबंधन का नेता

महाराष्ट्र: सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद महाराष्ट्र में बदली राजनीतिक तस्वीर, अब पांच बजे चुनेंगे गठबंधन का नेता

महाराष्ट्र: सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद महाराष्ट्र में बदली राजनीतिक तस्वीर, अब पांच बजे चुनेंगे गठबंधन का नेता

Posted by: , Updated: 26/11/19 02:50:11pm


 मुंबई। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद महाराष्ट्र में पूरी राजनीतिक तस्वीर बदलती दिख रही है। कोर्ट ने कहा है कि कल शाम 5 बजे तक बहुमत परीक्षण हो जाना चाहिए। जानिए कोर्ट के फैसले के बाद दिल्ली से महाराष्ट्र तक चल रही सियासी हलचल का हर अपडेट

शरद पवार से मिले अजित पवार
एनसीपी प्रमुख शरद पवार और उप मुख्यमंत्री अजित पवार की मुलाकात हुई है। सूत्रों ने बताया कि इस दौरान अजित पवार से शरद पवार ने कहा कि माफ कर दिया अब वापस आ जाओ। इतना ही नहीं शरद पवार ने अजित पर तल्ख होते हुए कहा कि इस्तीफा दो या कल विधानसभा से बाहर रहो। 
बहुमत साबित करने को तैयार-भाजपा
महाराष्ट्र में विधायकों के द्वारा होटल में शपथ लेने पर भाजपा के वरिष्ठ नेता राम माधव ने कहा कि बहुमत सदन में साबित करना होता है, होटल में नहीं। उन्होंने कहा कि फडणवीस सरकार अपना बहुमत साबित करने में कामयाब होगी।

इसे भी पढ़ें- राजधानी लखनऊ से लगे लगभग 88 गांवों के लिए अच्छी खबर

शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस के विधायकों की बैठक
मुंबई के सोफीटेल होटल में एनसीपी-शिवसेना की बैठक हुई। जिसमें शरद पवार, उद्धव ठाकरे, सुप्रिया सुले, आदित्य ठाकरे, प्रफुल्ल पटेल समेत कई नेता मौजूद रहे। बताया जा रहा है कि विधायक दल का नेता चुनने के लिए आज शाम 5 बजे एनसीपी-शिवसेना-कांग्रेस की बैठक बुलाई गई है।
अजित पवार और सुप्रिया सुले की हुई मुलाकात
उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने मंगलवार सुबह एनसीपी नेताओं से मुलाकात की, जिसमें प्रफुल्ल पटेल, सुप्रिया सुले जैसे नेता शामिल रहे। उसके बाद अजित पवार मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के आवास पर पहुंचे। देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात करने के बाद अजित पवार अपने भाई श्रीनिवास पवार के घर पहुंचे हैं। इस दौरान जब अजित पवार से इस्तीफे को लेकर पत्रकारों ने सवाल किया गया तो उन्होंने सिर्फ इतना ही कहा कि उनका पीछा नहीं करें। 
इसे भी पढ़ें- 68500 भर्ती के लिए 28 नवंबर से फिर से आवेदन शुरू

सोनिया ने जीत का विश्वास जताया
महाराष्ट्र में शक्ति प्रदर्शन जीतने पर आश्वस्त होने के सवाल पर सोनिया गांधी ने कहा  बिल्कुल। वहीं पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि महाराष्ट्र में केंद्र का जो रवैया था, उसे देखकर यह बात निश्चित नहीं है कि मौजूदा शासन के हाथ में संवैधानिक मानदंड सुरक्षित है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरेजवाला ने उच्चतम न्यायालय के आदेश को लोकतंत्र की जीत बताते हुए इसकी प्रशंसा की और कहा कि यह भाजपा-अजित पवार की अवैध सरकार पर एक तमाचा है। हालांकि भाजपा के प्रवक्ता नलिन कोहली ने अदालत का फैसला पार्टी के लिये झटका साबित होने की बात को खारिज करते हुए कहा कि संविधान के मामले में कोई भी न्यायिक फैसला किसी राजनीतिक दल के लिये झटका नहीं हो सकता है। न्यायिक आदेश संविधान को मजबूत बनाते हैं।
बाला साहब थोराट कांग्रेस विधायक दल का नेता
अब महाराष्ट्र में हलचल और तेज हो गई है। सभी प्रमुख पार्टियों में बैठकों का दौर जारी है। कांग्रेस ने बाला साहब थोराट को विधायक दल का नेता चुना है, वहीं एनसीपी चीफ शरद पवार होटल में अपनी पार्टी के विधायकों से मिलने पहुंचे हैं। बीजेपी ने भी आज रात 9 बजे मुंबई के गरवारे क्लब में पार्टी विधायकों को पहुंचने का आदेश दिया है।
इसे भी पढ़ें- क्लास में मैथ पढ़ा रहा था टीचर, हो गयी मौत

बहुमत साबित करने के लिए तैयार हैं : भाजपा 
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कहा कि महाराष्ट्र विधानसभा में बुधवार को शक्ति परीक्षण कराने के उच्चतम न्यायालय के आदेश का वह सम्मान करती है और उसे पूरा भरोसा है कि वह सदन में अपना बहुमत साबित करेगी। प्रदेश भाजपा प्रमुख चंद्रकांत पाटील ने यहां संवाददाताओं से कहा कि हम शीर्ष अदालत के आदेश का सम्मान करते हैं। हम बहुमत साबित करने के लिए तैयार हैं और हम यह करके दिखाएंगे।

धन, बाहुबल से कहीं अधिक शक्तिशाली है संविधान : कांग्रेस 
महाराष्ट्र कांग्रेस ने मंगलवार को उच्चतम न्यायालय के आदेश का स्वागत किया और कहा कि संविधान ‘धन और बाहुबल’ की तुलना में कहीं अधिक शक्तिशाली है। पार्टी ने दावा किया कि शिवसेना-राकांपा और कांग्रेस के पास कुल मिलाकर 162 विधायकों का समर्थन है।

इसे भी पढ़ें-अगले महीने 26 दिसंबर को चार घंटे के लिए बंद रहेगा सबरीमाला मंदिर, जानें कारण

शरद पवार ने न्यायालय के आदेश की प्रशंसा की
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार ने महाराष्ट्र विधानसभा में बुधवार को शक्ति परीक्षण कराने के उच्चतम न्यायालय के आदेश की मंगलवार को प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक मूल्यों और संवैधानिक सिद्धांतों को बरकरार रखने के लिए वह शीर्ष अदालत के आभारी हैं।

उन्होंने कहा कि यह सुखद है कि यह फैसला उस वक्त आया जब देश ‘संविधान दिवस’ मना रहा है। साथ ही उन्होंने इस फैसले को संविधान के निर्माता डॉक्टर बी.आर आंबेडकर को श्रद्धांजलि बताया।
सच को हराया नहीं जा सकता :  शिवसेना 
शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि सच को हराया नहीं जा सकता। राउत ने ट्वीट किया, “सत्यमेव जयते।” राज्यसभा सदस्य ने एक अन्य ट्वीट में कहा, “सत्य परेशान हो सकता है..पराजित नहीं हो सकता है...जय हिंद।
 
इसे भी पढ़ें- तो गवर्नर ने फडणवीस को दिए हैं 14 दिन!

विधायक दल के नेता पर स्पीकर लेंगे फैसला
महाराष्ट्र विधानसभा सचिवालय के सचिव राजेंद्र भागवत का कहना है कि विधानसभा सचिवाल को एक पत्र मिला है जिसमें दावा किया गया है कि जयंत पाटिल एनसीपी विधायक दल के नेता हैं। लेकिन इसका फैसला स्पीकर को लेना है। अज इसका निर्णय नहीं हुआ है।

जुड़े हमारे फेसबुक पेज से- https://www.facebook.com/firsteyenws/
ट्विटर पर हमें फॉलो करें- https://twitter.com/firsteyenewslko
सब्सक्राइब करें हमारा यूट्यूब चैनल-https://www.youtube.com/channel/UChwj7_fqaFUS-jghSBkwtDw

Recent Comments

Leave a comment

Top