तेजस के कैबिन क्रू में तैनात 20 लोगों को बिना किसी नोटिस के नौकरी से निकाला 

तेजस के कैबिन क्रू में तैनात 20 लोगों को बिना किसी नोटिस के नौकरी से निकाला 

तेजस के कैबिन क्रू में तैनात 20 लोगों को बिना किसी नोटिस के नौकरी से निकाला 

Posted by: Firsteye Desk, Updated: 28/11/19 12:59:49pm


लखनऊ। देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस के कैबिन क्रू में तैनात 20 लोगों को बिना किसी नोटिस के नौकरी से निकाले जाने का मामला सामने आया है। लखनऊ से दिल्ली के बीच चलने वाली तेजस ट्रेन में तैनात 20 केबिन क्रू मेंबर्स ने बिना किसी नोटिस के नौकरी से निकाल दिए जाने का आरोप लगाया है। कैबिन क्रू से हटाए गए कर्मचारियों ने रेल मंत्री से मदद मांगी है।

इसे भी पढ़ें-राखी सावंत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से की ये स्पेशल डिमांड

आपको बता दें कि लखनऊ-दिल्ली तेजस ट्रेन में हॉस्पिटालिटी की जिम्मेदारी वृंदावन फूड प्रोडक्ट्स (आरके एसोसिएस) की है। ये कंपनी प्राइवेट कॉन्ट्रेक्टर के तौर पर आईआरसीटीसी के साथ से जुड़ी हुई है। इस फर्म ने केबिन क्रू व अटैंडेंट के तौर पर 40 से अधिक लड़के-लड़कियों की हायरिंग की थी। लेकिन एक महीने के भीतर 15 से 20 लोगों को हटा दिया जिनमें लड़कियां भी हैं।

इसे भी पढ़ें- अब स्टीकर से होगी प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों की पहचान ! 

जुड़े हमारे फेसबुक पेज से- https://www.facebook.com/firsteyenws/
ट्विटर पर हमें फॉलो करें- https://twitter.com/firsteyenewslko
सब्सक्राइब करें हमारा यूट्यूब चैनल-https://www.youtube.com/channel/UChwj7_fqaFUS-jghSBkwtDw

Recent Comments

Leave a comment

Top