कमलेश तिवारी हत्याकांड में बरेली का मौलाना भी हुआ, गिरफ्तार

कमलेश तिवारी हत्याकांड में बरेली का मौलाना भी हुआ, गिरफ्तार

कमलेश तिवारी हत्याकांड में बरेली का मौलाना भी हुआ, गिरफ्तार

Posted by: Mr. Diwakar Pathak, Updated: 22/10/19 01:48:04pm


फर्स्ट आई न्यूज़ डेस्क


लखनऊ।  हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की लखनऊ में शुक्रवार को हत्या के बाद से हाई अलर्ट पर एटीएस ने बरेली से मंगलवार को एक मौलाना को हिरासत में लिया है। इस मौलाना की संदिग्ध हरकतों पर एटीएस ने अपना शिकंजा कसा है। अब मौलाना से लखनऊ में पूछताछ की जाएगी। लखनऊ में कमलेश तिवारी की हत्या के बाद आरोपितों की लोकेशन लखनऊ के बाद शाहजहांपुर, बरेली व मुरादाबाद के बाद अम्बाला मिलने की सूचना पर पुलिस की टीमें सक्रिय हैं।  यह टीम इस मौलाना को लेकर लखनऊ के लिए रवाना हो चुकी है।सूत्रों के अनुसार लखनऊ में 18 अक्टूबर को कमलेश तिवारी की हत्या करने के बाद दोनों आरोपी मौलाना से मिलने बरेली गए थे। मौलाना पर आरोपियों की मदद करने का आरोप है।

55 वर्ष के हुए अमित भाई शाह, प्रधानमंत्री ने दी बधाई
कमलेश तिवारी के हत्यारोपित  मोईनुद्दीन अहमद, शेख अशफाक हुसैन,और उनके मददगारों की तलाश में बरेली मंडल में एसटीएफ व एटीएस ने ताबड़तोड़ छापेमारी की। यहां बरेली, पीलीभीत और शाहजहांपुर से सात युवकों को हिरासत में लिया गया है, जिसके  बाद साफ हो गया कि वारदात के बाद हत्यारोपित बरेली में ही थे। इन सात लोगों की मदद से लोकेशन बदलते रहे। रविवार को नेपाल भागने की कोशिश भी की, मगर सफलता नहीं मिली। दोनों हत्यारोपितों की सीसीटीवी फुटेज भी शाहजहांपुर में मिल गई है।

अब डायल 100 नहीं,112 डायल करने पर मिलेगी पुलिस सहायता

लखनऊ में हत्याकांड को अंजाम देने के बाद दोनों हत्यारोपित  मोईनुद्दीन अहमद और शेख अशफाक हुसैन बरेली की ओर भागे, इसकी जानकारी टीमों को मिल चुकी थी। सर्विलांस के जरिये पता चला कि दोनों आरोपित बरेली, पीलीभीत व शाहजहांपुर में कुछ लोगों के संपर्क में थे। इसके बाद रविवार रात से लेकर सोमवार दोपहर तक ताबड़तोड़ छापेमारी की गई, जिसमें बरेली से पांच व पीलीभीत से एक युवक को पकड़ा गया । शुरुआती पूछताछ में पता चला है कि शुक्रवार रात को दोनों हत्यारोपित बरेली आकर रुके थे। पांचों युवकों ने उनके रुकने, खाने-पीने का इंतजाम कराया। पीलीभीत के शेरपुर कला गांव से जिस युवक को पकड़ा गया, वह भी फोन पर लगातार संपर्क में बना हुआ था। 

भारत के साथ पाकिस्तान ने बंद की डाक मेल सेवा, विभाजन के बाद पहली बार हुआ ऐसा
शाहजहांपुर में जिस इनोवा कार चालक को पकड़ा गया, वह दोनों हत्यारोपितों को रविवार को पलिया (लखीमपुर खीरी) से रेलवे स्टेशन तक लेकर आया था। विवार रात को शाहजहांपुर रेलवे स्टेशन के पास लगे एक होटल के सीसीटीवी फुटेज में दोनों हत्यारोपित पैदल जाते हुए दिखाई दे रहे हैैं। एटीएस व एसटीएफ टीम ने सोमवार तड़के से दोपहर तक शाहजहांपुर रेलवे स्टेशन के आसपास कई होटलों की सीसीटीवी फुटेज खंगाली गई तो एक होटल के कैमरे में दोनों हत्यारोपित दिख गए। होटल मालिक व अन्य कई लोगों से पूछताछ हुई तो एक इनोवा कार चालक का नंबर मिला। उसे खुटार के पास  से पकड़ा गया।

add image

Recent Comments

Leave a comment

Top