18 महीने बाद भी आरोपी सिपाही के खिलाफ पुलिस ने नहीं लगाई चार्टशीट

18 महीने बाद भी आरोपी सिपाही के खिलाफ पुलिस ने नहीं लगाई चार्टशीट

18 महीने बाद भी आरोपी सिपाही के खिलाफ पुलिस ने नहीं लगाई चार्टशीट

Posted by: Mr. Diwakar Pathak, Updated: 25/10/19 05:39:18pm


कानपुर। एक खाकी वर्दीधारी सिपाही ने नशे में अपनी मंगेतर से रेप किया और बाद में उसे छोड़कर दूसरी जगह शादी कर ली। युवती को इसकी जानकारी हुई तो वह अपनी शिकायत लेकर बर्रा थाने पहुंची लेकिन मामला सत्ताधारी विधायक के पूर्व गनर होने के कारण उसे टरका दिया गया। मजबूर होकर युवती एसएसपी के पास पहुंची और आरोपी सिपाही की करतूत बताई। एसएसपी ने उसकी आपबीती सुनने के बाद रिपोर्ट दर्ज कर जांच के आदेश दिए और सिपाही को सस्पेंड भी कर दिया। लेकिन मुकदमा दर्ज होने के 18 महीने बीतने के बावजूद पुलिस ने चार्टशीट नहीं दाखिल की बल्कि सिपाही दीपक दीक्षित अपने साले अनुज के साथ मिलकर पीड़िता को ही लगातार मुकदमा वापस न लेने पर अंजाम भुगतने की धमकी दे रहा है और रेप पीड़िता इंसाफ़ के लिए आला अधिकारियों की चौखट पर न्याय की गुहार लगा रही है। पीड़िता के मुताबिक़,सुप्रीम कोर्ट ने भी इस मामले का संज्ञान लिया है।शुकवार को अशोक नगर स्थित कानपुर जर्नलिस्ट क्लब में पीड़िता ने बताया कि उसकी शादी 29 सितंबर 2016 को कांस्टेबल दीपक कुमार दीक्षित से तय हुई थी। दीपक उस समय भाजपा विधायक का गनर था वह मूलरूप से झांसी के चिरगांव का रहने वाला है। पीड़िता का आरोप है कि दीपक शादी तय होने के बाद मोबाइल पर बात करने लगा। 2 दिसंबर 2016 को उनकी वरीक्षा  भी  हो गई। इसके बाद दीपक आए दिन उससे मिलने भी लगा। इसी बीच पीड़िता के घरवाले वैष्णो देवी दर्शन करने गए थे। दीपक को इसका पता चला तो वह पीड़िता के घर आ गया। विरोध करने पर दीपक ने उसे यह कहकर शांत करा दिया कि वह उसका होने वाला पति है। 

इसे भी पढ़े :मौसम विभाग के अनुसार दिवाली में होगी भारी बरसात

 

आरोपी सिपाही ने पीड़िता के भाई को फर्जी मुकदमे में फंसाने की रची साजिश  

पीड़िता का आरोप है कि इस दौरान दीपक ने उसके साथ कई बार शारीरिक संबंध बनाए। 29 सितंबर 2017 को उनका गोद भराई और तिलक का भी कार्यक्रम हो गया। इसके बाद दीपक और उसके परिजनों ने अतिरिक्त दहेज की मांग कर बात करना बंद कर दिया। इधर, अप्रैल के पहले सप्ताह युवती को पता चला कि दीपक 25 अप्रैल को किसी दूसरी युवती से शादी करने जा रहा है। उसने थाने में उसकी शिकायत की,लेकिन सुनवाई न होने पर एसएसपी के सामने पेश हुई। एसएसपी ने आपबीती सुनकर रिपोर्ट दर्ज करने का आदेश दे दिया, एसएसपी के आदेश के बाद एफआईआर तो दर्ज हो गई लेकिन आज तक दबंग सिपाही की गिरफ्तारी नही हुई और वो लगातार पीड़िता और उसके भाइयों को धमका रहा है जिसकीं शिकायत पीड़िता ने थाने से लेकर डीजीपी तक से की लेकिन कोई कार्यवाही नही हुई उल्टा आरोपी सिपाही अपने पिता के साथ मिलकर पीड़िता पर दबाव बनाने के लिए झांसी में रोड एक्सीडेंट में घायल होकर इलाज के दौरान अपनी माँ के म्रत्यु के मामले को हत्या दिखाकर पीड़िता के भाई को फसाने की साजिश रच रहा है। जिसके लिए उसने न्यायालय में वाद दाखिल किया है। जिसकीं जानकारी होने पर पीड़िता ने एडीजी प्रेम प्रकाश से न्याय की गुहार लगाई है जहाँ पर मामले की गंभीरता को देखते हुए उन्होंने आश्वस्त किया है कि जल्द ही आरोपी के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी।
 

Recent Comments

Leave a comment

Top