मजबूरी कहे या शौक, या फिर भौतिक सुखो के साथ जीवन जीने की प्रबल इच्छा,

मजबूरी कहे या शौक, या फिर भौतिक सुखो के साथ जीवन जीने की प्रबल इच्छा,

मजबूरी कहे या शौक, या फिर भौतिक सुखो के साथ जीवन जीने की प्रबल इच्छा,

Posted by: , Updated: 30/10/19 05:39:52pm


यूपी।बरेली, जहां वेश्यावृति को भारतीय समाज में अभिशाप माना जाता है, वही भारतीय संविधान में भी इसको गैर कानूनी माना गया हैं। लेकिन इसको मजबूरी कहे या शौक या फिर भौतिक सुखो के साथ जीवन जीने की प्रबल इच्छा,महानगरों के साथ साथ बड़े बड़े शहरो में यह धंधा काभी फलफूल रहा है और इसके मालिक अक्सर महिला ही होती हैं। ऐसा ही एक मामला बरेली का है जहाँ मसाज पार्लर की आड़ में  देह व्यापार का धंधा चल रहा था जहा से शहर के प्रसिद्ध व्यापारी व व्यापारियों के 9 युवको को  पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया हैं। बरेली co थर्ड के नेतृत्व में एक मसाज पार्लर पर छापा मारा गया जहां से 5 युवक-युवतियों को आपत्तिजनक स्थिति में पाया गया। दरअसल मामला बरेली के फोनिक्स माल के सामने का है जिस बिल्डिंग में यह देह व्यापार चल रहा था वह एक सेवा निवृत पुलिस इंस्पेक्टर की है। जो उसने इन्हें किराए पर दे रखी थी जहाँ काफी समय से यह देह व्यापार का गोरख धंधा चलाया जा रहा था।

इसे भी पढ़े:  सपा संरक्षक मुलायम सिंह से मिलने पहुंचे सीएम योगी

मिली  जानकारी के मुताबिक लड़कियां कॉन्ट्रैक्ट पर असम हल्द्वानी व दिल्ली से बुलाई जाती थी।पॉर्लर से लोगो को मसाज के लिए काल की जाती थी। कस्टमर  को फुल सर्विस चाहिए या हाफ उस हिसाब से रेट तय होते थे कुछ लोगो द्वारा फोटो व्हाट्सअप पर मांगने पर उनको फोटो  भेज दी जाती थी फोटो सेलेक्ट करने के बाद चार्ज बताया जाता था  बाकी की जानकारी पॉर्लर पहुंचने के बाद दी जाती थी बीती रात पांच युवतियों सहित 14 लोगों को पुलिस ने हिरासत में लेकर जेल भेज दिया वही मिली जानकारी  के अनुसार शहर में ऐसे कई और मसाज पार्लर चल रहे हैं जिसमें मसाज के नाम पर देह व्यापार का कार्य किया जा रहा है।
 

Recent Comments

Leave a comment

Top