जामिया में चार नए विभागों की होगी शुरुआत

जामिया में चार नए विभागों की होगी शुरुआत

जामिया में चार नए विभागों की होगी शुरुआत

Posted by: , Updated: 31/10/19 04:14:28pm


नईदिल्ली। जामिया मिल्लिया इस्लामिया में जल्द ही चार नए विभागों की शुरुआत की जाएगी। विश्वविद्यालय की तरफ से विदेशी भाषाओं, जलवायु परिवर्तन, अस्पताल प्रबंधन और डिजाइन जैसे चार नए विभाग शुरू किए जाएंगे। विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. नजमा अख्तर ने कहा कि इन चार विभागों के शुरू होने से इनके अधीन छात्रों को रोजगार के अवसर प्रदान करने वाले पाठ्यक्रम भी शुरू किए जाएंगे।विश्वविद्यालय के प्रोफेसरों ने बताया कि अभी तक जामिया में कुछ विभागों के अधीन ही विदेशी भाषाओं को पढ़ाया जाता है। अब यह एक ही विभाग के अधीन आ जाएंगे, इससे छात्रों को फायदा होगा। साथ ही अस्पताल प्रबंधन जैसे पाठ्यक्रम में बताया जाएगा कि किस तरीके से अस्पताल में प्रशासनिक दायित्व को संभालना जाता है।

बेचैनी और डिप्रेशन में हूं, मुझे जमानत चाहिए: नीरव मोदी
इसके अलावा प्रो. नजमा अख्तर ने बताया कि विश्वविद्यालय की शिक्षा में गुणवत्ता को और भी ज्यादा बढ़ाने के लिए अकादमी और उद्योग को साथ में लाया जा रहा है। इसके तहत यूनिवर्सिटी इंडस्ट्री लिंकेज प्रोग्राम भी शुरू किया गया है। इसमें विभिन्न कंपनियों और सीआइआइ जैसी औद्योगिक संस्था से सहयोग भी मांगा जा रहा है।साथ ही जामिया में इस वर्ष तक शोध के कुल 164 शोध छात्र जुड़ चुके हैं। कई छात्रों को सीनियर रिसर्च फेलोशिप और जूनियर रिसर्च फेलोशिप भी मिल रही है। जामिया में अभी 200 रिसर्च प्रोजेक्ट पर काम किया जा रहा है। इन प्रोजेक्ट के लिए केंद्र सरकार के डिपार्टमेंट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी, बायोटेक्नोलॉजी विभाग व आइसीएमआर जैसी एजेंसियों से सहयोग के साथ अनुदान भी मिल रहा है। इससे संस्थान में सुविधाएं बढ़ रही हैं।गौरतलब है कि जामिया मिल्लिया इस्लामिया अपना स्थापना दिवस मना रहा है। 

कराची-रावलपिंडी एक्सप्रेस में सिलेंडर फटने से लगी आग, 65 की मौत
इस मौके पर यूनिवर्सिटी में तीन दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। बुधवार को यहां 2017 और 2018 में पास हुए छात्रों के लिए दीक्षांत समारोह का आयोजन किया गया था। इस दौरान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद यहां मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे और मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को सम्मानित अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया था। राष्ट्रपति कोविंद ने इस मौके पर 10,000 छात्रों को उनका डिप्लोमा और डिग्रीयां प्रदान की। 

add image

Recent Comments

Leave a comment

Top