कानून हाथ में लेने की अनुमति किसी को नहीं-डीजीपी

कानून हाथ में लेने की अनुमति किसी को नहीं-डीजीपी

कानून हाथ में लेने की अनुमति किसी को नहीं-डीजीपी

Posted by: Mr. Ojaskar Pandey, Updated: 04/11/19 11:23:37am


लखनऊ अयोध्या राम मंदिर मामल में पुलिस प्रशासन सर्तक है। जानकारी के अनुसार किसी भी दिन कोर्ट का फैसला आ जाएगा। एक तरफ लोगों खौफ है वहीं दूसरी ओर लोगों को इस फैसले को लेकर उहापोह है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मद्देनजर पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने कहा कि हम बिल्कुल तैयार हैं। किसी भी परिस्थिति में किसी को भी कानून हाथ में लेने की अनुमति नहीं दी जाएगी। हमारी इंटेलिजेंस तैयार है। जरूरत पड़ने पर कानून-व्यवस्था को बाधित करने का प्रयास करने वाले तत्वों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू किया जाएगा।

अपनी बदहाली पर आंशू बहा रही, आगरा की बाबरी मस्जिद

रविवार को सभी जोनल अपर पुलिस महानिदेशक, परिक्षेत्रीय पुलिस महानिरीक्षक, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग कर कानून व्यवस्था की समीक्षा की और भावी चुनौतियों पर चर्चा की। पुलिस महानिदेशक ने निर्देश दिया कि जिलों में पीस कमेटी के पदाधिकारियों और स्पेशल पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर उनसे लगातार संपर्क बनाये रखा जाए। सभी समुदायों के लोगों के साथ निरंतर संवाद स्थापित कर अभिसूचना तंत्र को सक्रिय किया जाए।

उन्होंने कहा कि डिजिटल वालंटियर को अपडेट कर लगातार उनसे संपर्क बनाये रखा जाए। असामाजिक तत्वों को चिह्नित कर उनकी समीक्षा की जाए और समय रहते उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए। उन्होंने बीते पांच वर्षों के दौरान सोशल मीडिया पर विवादित पोस्ट डालने वालों को चिह्नित कर उन पर नजर रखने और जरूरत पड़ने पर आवश्यक कार्रवाई की जाए। फुटपाथ पर सोने वाले लोगों को गश्ती दलों से चिन्हित कराकर संबंधित विभागों के समन्वय से उनके लिए रैन बसेरा स्थापित कराने की कार्रावाई की जाए।

Recent Comments

Leave a comment

Top