लखनऊ: प्राइवेट कंपनी दर्जनों निवेशकों के करोड़ों रुपये लेकर फरार, जांच में जुटी पुलिस 

लखनऊ: प्राइवेट कंपनी दर्जनों निवेशकों के करोड़ों रुपये लेकर फरार, जांच में जुटी पुलिस 

लखनऊ: प्राइवेट कंपनी दर्जनों निवेशकों के करोड़ों रुपये लेकर फरार, जांच में जुटी पुलिस 

Posted by: Mrs. Pooja Jha, Updated: 05/11/19 04:46:47pm


उत्तर प्रदेश कि राजधानी में एक धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। जहां पीजीआई इलाके में एक प्राइवेट कंपनी दर्जनों निवेशकों के करोड़ों रुपये लेकर गायब हो गई। यह आरोप एक पीड़ित पीड़ित ने लगाया है।पीड़ित की शिकायत पर पीजीआई पुलिस ने कंपनी मालिक और उनकी पत्नी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। इंदिरानगर के सेक्टर जी इलाके में अधिवक्ता अतुल यादव अपने परिवार संग रहते हैं।

उनका कहना है कि उसके गांव में ही डॉ. मनीष यादव और उनकी पत्नी मिथलेश यादव रहते हैं। दोनों दंपती की पीजीआई के वृंदावन आरडीएम निधि लिमिटेड नाम से एक कंपनी थी। अतुल का कहना है कि एक दिन दंपती उनके इंदिरानगर आवास पर पहुंचे। दोनों ने अपनी कंपनी के बारे में बताया। दोनों ने कंपनी में निवेश पर अच्छा मुनाफा दिलाने की बात कही। दंपती की बात पर यकीन करते हुए उन्होंने 1.40 लाख रुपये कंपनी में निवेश कर दिए। दंपती ने गारंटी के तौर पर एक चेक भी पीड़ित को दिया था।

अतुल के अलावा मानिक लाल ने एक लाख रुपये, घनश्याम यादव ने 1.80 लाख रुपये और शकील ने पांच लाख रुपये का निवेश किया। कंपनी मालिक मनीष यादव ने सभी को आश्वासन दिया था कि उनकी निवेश की रकम दोगुनी हो जाएगी। मनीष ने गारंटी के तौर पर भी उन सभी लोग को चेक दिए थे। पीड़ित का आरोप है कि जुलाई माह में अचानक दंपती के मोबाइल फोन बंद हो गए। वह लोग कंपनी बंद कर गायब हो गए। इसके बाद पीड़ित उनकी तलाश में लगे रहे। कुछ पता नहीं चल सका। अब इस मामले में पीड़ित अतुल यादव की शिकायत पर पीजीआई पुलिस ने दंपती के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

add image

Recent Comments

Leave a comment

Top