पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद स्वामी पहुंचे कोर्ट, SIT ने कोर्ट में दाखिल की चार्जशीट

पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद स्वामी पहुंचे कोर्ट,  SIT ने कोर्ट में दाखिल की चार्जशीट

पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद स्वामी पहुंचे कोर्ट, SIT ने कोर्ट में दाखिल की चार्जशीट

Posted by: Mr. Diwakar Pathak, Updated: 06/11/19 06:56:37pm


शाहजहांपुर। अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री रह चुके चिन्मयानंद पर लगे लॉ छात्रा से दुष्कर्म के आरोपों और उनसे रंगदारी मांगे जाने के मामले में जांच विशेष जांच दल (एसआइटी) की विवेचना पूरी हो गई है। एसआइटी ने बुधवार को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी सीजेएम ओमवीर सिंह कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी। इस दौरान चिन्मयानंद, छात्रा व तीनों आरोपित युवक भी वहां पर मौजूद रहे। अब इस मामले में हाईकोर्ट में रिपोर्ट पेश की जाएगी।

 इसे भी पढ़े: शख्स ने सोशल मीडिया पर डाली पीएम मोदी की एडिटेड फोटो, मिली ये सजा

बुधवार पूर्वाह्न करीब 11 बजे एसआइटी दुष्कर्म के आरोप में जेल में बंद चिन्मयानंद को कड़ी सुरक्षा में साथ लेकर सीजेएम कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करने पहुंची। इस दौरान कोर्ट परिसर में पुलिस बल तैनात रहा। सीजेएम कोर्ट में चिन्मयानंद की पेशी के बाद उनको जेल में वापस दाखिल कर दिया गया। उसके बाद रंगदारी में आरोपित छात्रा, उसके दोस्त संजय सिंह, विक्रम सिंह और सचिन सेंगर को जेल से कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया। एसआइटी ने चिन्मयानंद प्रकरण में पांचों आरोपित को सीजेएम कोर्ट में पेश करते हुए चार्जशीट दाखिल कर दी है। अब गुरुवार को एसआइटी हाईकोर्ट में अपना जवाब दाखिल करेगी। वहीं, 28 नवंबर को हाईकोर्ट में अपनी स्टेटस रिपोर्ट पेशी करेगी

 इसे भी पढ़ेअयोध्या, फैसले से पहले इंटेलिजेंस अलर्ट

बुधवार को एसआइटी की टीम केस डायरी व चार्जशीट लेकर सीजेएम कोर्ट पहुंची। करीब 11 बजे चिन्मयानंद को कोर्ट में लाया गया, जहां सीजेएम ओमवीर सिंह ने उन पर लगे आरोपों के बारे में बताया। इसके बाद आरोप पत्र पर उनका हस्ताक्षर कराया गया। करीब बीस मिनट तक रुकने के बाद चिन्मयानंद को वापस ले जाया गया। उसके बाद छात्रा, संजय सिंह, विक्रम सिंह व सचिन सेंगर को वहां लाया गया। चारों लोगों को कोर्ट में पेश किया गया। उन सभी पर एक-एक कर आरोप बताए गए। उनके भी हस्ताक्षर आरोप पत्र पर लिए गए। करीब बीस मिनट तक चारों आरोपित वहां पर रुके। उसके बाद उन्हें भी वहां से वापस जेल भेज दिया गया। 

Recent Comments

Leave a comment

Top