प्रियंका वाड्रा के नेतृत्व में केन्द्र, व प्रदेश सरकारों पर हमलावर हुई कांग्रेस

प्रियंका वाड्रा के नेतृत्व में केन्द्र, व प्रदेश सरकारों पर हमलावर हुई कांग्रेस

प्रियंका वाड्रा के नेतृत्व में केन्द्र, व प्रदेश सरकारों पर हमलावर हुई कांग्रेस

Posted by: Mr. Diwakar Pathak, Updated: 06/11/19 07:49:15pm


लखनऊ। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा के नेतृत्व में पार्टी नेता केन्द्र व प्रदेश भाजपा सरकारों पर हमलावर बने हुए हैं। कांग्रेस नेता जहां विभिन्न मुद्दों पर मीडिया में बयानबाजी कर रहे हैं वहीं प्रियंका सोशल मीडिया के जरिए सरकारों को घेरने में जुटी हैं, जिससे अपने कार्यकर्ताओं को उत्साहित किया जा सके। प्रियंका ने बुधवार को ट्वीट के जरिए एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेन्द्र्र मोदी का नाम लिये बिना उन पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि विदेशों में जाकर सब चंगा सी कहने से सब ठीक तो नहीं हो जाएगा। कहीं से भी रोजगार बढऩे, नए रोजगार पैदा होने की खबर नहीं आ रही है।

इसे भी पढ़े:  अयोध्या: खुद की बीमारी से तंग आकर युवक ने बदन में लगाई आग

नामी गिरामी कम्पनियों ने लोगों को निकालना शुरू कर दिया है। चंगा सी बोलने वाले हैं, एकदम चुप सी, क्यों। प्रियंका लगातार ट्वीट के जरिए भाजपा सरकारों पर निशाना साधने में लगी हुई हैं। इससे पहले उन्होंने मंगलवार को प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को घेरते हुए कहा कि भाजपा सरकार बनने के बाद 24 मार्च 2017 को पॉवर कोर्पोरेशन के कर्मियों का पैसा डिफॉल्टर कम्पनी डीएचएफएल में लगा। सवाल ये है कि भाजपा सरकार दो साल तक चुप क्यों बैठी रही। कर्मचारियों को ये बताइए कि उनकी गाढ़ी कमाई कैसे मिलेगी।  प्रियंका वाड्रा की ओर से की जा रही बयानबाजी के बाद प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने बुधवार को एक बार फिर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के डीएचएफएल से रिश्ते के बहाने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अभी तक डीएचएफएल पर अपना कोई बयान नहीं दिया है। उनको प्रदेश में भूचाल लाने वाले इस मुद्दे पर अपनी बात रखनी चाहिए। वहीं ऊर्जा मंत्री श्रीकांत को तत्काल बर्खास्त कर देना चाहिए। लल्लू ने कहा कि डीएचएफएल से समझौता योगी आदित्यनाथ की सरकार में हुआ है, सारी जिम्मेदारी सरकार की है।

 इसे भी पढ़े :  प्रदूषण की चपेट में भगवान ! मूर्तियों को पहनाया गया मास्क

सितम्बर-अक्टूबर 2017 में ऊर्जा मंत्री किस प्रयोजन से दुबई गए थे और वहां किन-किन लोगों से मुलाकात की। यह दौरा उसी समय किया गया जब डीएचएफएल का पैसा सनब्लिंक कम्पनी को जा रहा था। ऊर्जा मंत्री 10 दिनों की इस आधिकारिक यात्रा के उद्देश्य बताएं। पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य और प्रदेश प्रवक्ता अंशू अवस्थी ने बताया कि भाजपा सरकार में आर्थिक लूट मचा रखी है, जिससे देश में बेरोजगारी, किसानों की बदहाली एवं अर्थव्यवस्था दिन प्रतिदिन बदहाल हो रही है। कांग्रेस पार्टी इस आर्थिक आपातकाल के खिलाफ 10 दिवसीय चरणबद्ध आंदोलन चलाने जा रही 

Recent Comments

Leave a comment

Top