Home उत्तर प्रदेश चार्टर्ड प्लेन के बाद अखिलेश यादव ने लिया हेलिकॉप्टर का सहारा!

चार्टर्ड प्लेन के बाद अखिलेश यादव ने लिया हेलिकॉप्टर का सहारा!

0
चार्टर्ड प्लेन के बाद अखिलेश यादव ने लिया हेलिकॉप्टर का सहारा!

लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी में इन दिनों टिकट मिलने से ज्यादा छिनने का दौरा जारी है. सपा की तरफ से यूपी में अब तक 40 से ज्यादा प्रत्याशी उतारे गए हैं. वहीं अब तक 7 सीटों पर उम्मीदवार बदले जा चुके हैं. यह सिलसिला मिश्रिख, बदायूं से होता हुआ अब मेरठ तक जा पहुंचा है. बीते एक हफ्ते में रामपुर, मुरादाबाद और मेरठ में ऐसी कलह मची कि सपा की एकजुटता का दावा, तार-तार हो गया.  अखिलेश यादव बीते एक हफ्ते में चार्टर्ड प्लेन और हेलिकॉप्टर तक का सहारा ले चुके हैं लेकिन अभी भी उनकी पार्टी का अंदरूनी ड्रामा खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है.

पहले बात करते हैं मेरठ की. सपा ने मेरठ सीट पर सबसे पहले भानु प्रताप सिंह को उम्मीदवार बनाया था  लेकिन उनका टिकट काट दिया. फिर सपा ने मेरठ सीट से अतुल प्रधान को टिकट दिया. उन्होंने नामांकन भी कर दिया लेकिन सपा ने इस सीट पर एक बार फिर अपना फैसला बदला और अतुल प्रधान को झटका देते हुए उनका भी टिकट काट दिया. आज यानी गुरुवार (4 अप्रैल) को सपा के मुखिया अखिलेश यादव ने एक बार फिर इस सीट पर प्रत्याशियों के बदलने का खेल जारी रखा और पूर्व विधायक योगेश वर्मा की पत्नी सुनीता वर्मा को टिकट देकर मेरठ से प्रत्याशी बनाया.

हेलीकॉप्टर से भेजा गया सिंबल

अतुल प्रधान का टिकट काटने के बाद सपा की तरफ से लखनऊ से मेरठ के लिए हेलीकॉप्टर उड़ा दिया गया. लखनऊ से सुनीता वर्मा के सिंबल को हेलीकॉप्टर से भेजा जा रहा है. मेरठ से सपा प्रत्याशी सुनीता वर्मा के पति योगेश वर्मा को लखनऊ से हेलीकॉप्टर से रवाना कर दिया गया है. योगेश वर्मा सिंबल लेकर मेरठ गए. उनको बी फार्म दिया गया है.

पूर्व एमएलए और दलितों के बड़े नेता योगेश वर्मा की सुनीता वर्मा पत्नी हैं. मेरठ सीट पर अखिलेश यादव ने अतुल  प्रधान को बड़ा झटका दिया है. मेरठ लोकसभा सीट पर टिकट की महाभारत में योगेश वर्मा विजेता बने हैं. सपा विधायक अतुल प्रधान पर पूर्व एमएलए योगेश वर्मा भारी पड़ते दिखे. अतुल प्रधान ने कल यानी (3 मार्च) को ही अपना नामांकन पत्र दाखिल किया था और आज पार्टी की तरफ से उनका टिकट ही काट दिया गया.

क्या बोले अतुल प्रधान? 

मेरठ से सपा की तरफ से टिकट काटे जाने पर अतुल प्रधान ने प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने एक्स पर लिखा है, ‘जो राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव जी का निर्णय है, वो स्वीकार है ! जल्द ही साथियों से बैठकर बात करेंगे!” मेरठ सीट पर प्रत्याशी बदलने के इस कदम के चलते यह भी सवाल खड़ा होने लगे हैं कि क्या समाजवादी पार्टी में सबकुछ ठीक चल रहा है.

लखनऊ से सपा ने उड़ाया चार्टर्ड प्लेन

इससे पहले समाजवादी पार्टी ने मुरादाबाद लोकसभा सीट से सांसद एसटी हसन का टिकट काट दिया और उनकी जगह रुचि वीरा को प्रत्याशी बनाया, लेकिन रुचि के नाम पर भी सहमति नहीं बनी तो एक बार सपा की तरफ से एसटी हसन के नाम पर चर्चा शुरू हो गई. जिसके लिए सपा मुखिया अखिलेश यादव ने 27 अप्रैल को लखनऊ से मुरादाबाद के लिए एसटी हसन के सिंबल के साथ चार्टर्ड प्लेन उड़ा दिया, लेकिन यह प्लेन एसटी हसन के सिंबल के साथ समय पर लेकर लैंड नहीं कर सका और ऐसे में सपा का मुरादाबाद सीट पर फैसला बदलते-बदलते रुक गया. अब इस सीट से रुचि वीरा सपा की प्रत्याशी हैं.

बीते दिनों वह चिट्ठी भी सामने आई जिसमें एसटी हसन को दोबारा सिंबल दिया गया था लेकिन अब वह किसी के काम की नहीं है. माना जा रहा है कि एसटी हसन को दोबारा सिंबल देने वाली चिट्ठी वायरल कर के सपा, सीट पर डैमेज कंट्रोल में जुटी है.