Home बिज़नेस शेयर मार्केट आउटलुक: ब्लॉकचेन डेटा और वैश्विक रुझानों से तय होगी शेयर बाजार की दिशा

शेयर मार्केट आउटलुक: ब्लॉकचेन डेटा और वैश्विक रुझानों से तय होगी शेयर बाजार की दिशा

0
शेयर मार्केट आउटलुक: ब्लॉकचेन डेटा और वैश्विक रुझानों से तय होगी शेयर बाजार की दिशा

नई दिल्ली. शेयर बाजार (शेयर मार्केट) में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। वहीं एनालिस्ट्स के मुताबिक, इस हफ्ते घरेलू शेयर बाजारों की दिशा घरेलू शेयर बाजारों पर रियल एस्टेट डेटा और ग्लोबल ट्रेंड्स से तय होगी। सप्ताह के दौरान घरेलू बाज़ार में औद्योगिक उत्पादन (आईआईपी) और मंदी के आंकड़े आते हैं। एनालिस्ट्स का कहना है कि हाई वैल्यूएशन की वजह से मार्केट में कुछ आउट-पुट देखने को मिल सकता है। गुरुवार (7 मार्च) को प्लांटर्स और एन एसेस्टिक्स को अपने ऑल टाइम हाई पर बंद कर दिया गया था।

इसके अलावा फॉरेन इन्वेस्टर्स के स्टॉक, वैश्विक बाजार स्तर पर ब्रेंट ऑयल के बांध और डॉलर के डॉलर के उतार-चढ़ाव के लिए भी महत्वपूर्ण होगा। स्वस्तिका जांच मार्ट लि. के अध्ययन प्रमुख सन्तोष मीना ने कहा, ”इस बाज़ार सप्ताह का ध्यान महँगे के आंकड़ों पर बना रहेगा। सप्ताह के दौरान मंगलवार (12 मार्च) को भारत और अमेरिका के कंज्यूमर मार्केट स्टॉक (सीपीआई) के आंकड़ों का आकलन किया गया। गुरुवार को होलसेल प्राइस यूनिट (WPI) के आधार पर आंकड़े जारी होंगे। फॉरेन इंस्टीट्यूशनल इंस्पेक्टर्स (FIIs) की खरीदारी का सामान जारी किया जा सकता है। ऐसे में बड़ी कंपनी के शेयर बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं।”

12 मार्च को जारी किए गए रिटेल बिजनेस के आंकड़े
जनवरी के लिए औद्योगिक उत्पादन के डेटा और फरवरी के ज़ूमर फर्म के आधार पर कंज्यूमर स्टॉक के डेटा मंगलवार (12 मार्च) को आएंगे। थोक के आंकड़े गुरुवार (14 मार्च) जारी किये जायेंगे।

हाई वैल्यूएशन की वजह से बाजार में उतार-चढ़ाव संभव
जियोजीत डेटा आउटलुक और रिसर्च हेड विनोद नायर ने कहा, ”चीन, भारत के उद्यमियों से विश्व स्तर पर व्यापक आर्थिक परिदृश्य के बारे में जानकारी मिलेगी।” हमारा अनुमान है कि हाई वैल्यूएशन की वजह से बाजार में उतार-चढ़ाव भरा रहेगा।”

अमेरिकी बाज़ार में दावावसूली
रेलिंगेयर ब्रोकिंग लाइक। के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट (टेक्निकल रिसर्चर) अजीत मिश्रा ने कहा, ”वैश्विक बाजारों के प्रदर्शन के अलावा वैश्विक बाजारों का भी विशिष्ट वैज्ञानिक डेटा अलग-अलग होता है। 4 महीने की लगातार तेजी के बाद अमेरिकी बाजार में रिवाइवसूली देखने को मिल रही है। ऐसे में स्वचालित आधार पर बाजार में कुछ आउटेज-आर्ट देखने को मिल सकता है।”