Home उत्तर प्रदेश विदेशी भक्त से रामलला का दर्शन कराने के लिए दो हजार रुपए

विदेशी भक्त से रामलला का दर्शन कराने के लिए दो हजार रुपए

0
विदेशी भक्त से रामलला का दर्शन कराने के लिए दो हजार रुपए

राम जन्मभूमि मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा हुए अभी 2 महीने ही हुए हैं और हर कोई अपने आराध्य का दर्शन करना चाहता है. ऐसे में कुछ लोग इसका लाभ उठाने के लिए सक्रिय हो गए हैं. इसमें कुछ मंदिरों से जुड़े लोग और ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मियों का नाम भी सामने आ रहा है. इस मामले ने उस समय तूल पकड़ लिया जब राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय के जानने वाले एनआरआई व्यक्ति ने उनसे 2000 रुपए लेकर दर्शन करने की बात उनसे कही. इसके बाद मामले को लेकर एसएसपी राजकरण नैयर के निगरानी में एक जांच शुरू हो गई है.

श्रीराम जन्मभूमि मंदिर में सुगम दर्शन की अभिलाषा रखने वाले राम भक्तों के अयोध्या में ऐसे लोगों के जाल में फसने की घटनाएं इन दिनों आम है जो सुगम दर्शन के नाम पर श्रद्धालुओं से मोटा पैसा वसूल रहे है. ऐसा ही एक मामला उस समय आया जब विदेश में रहने वाले एक व्यक्ति ने राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय के पास जाकर कहा कि वह ₹2000 देकर दर्शन करके आया है. यह व्यक्ति पहले से चंपत राय को जानता था इसलिए जब उसने पैसे देकर दर्शन की बात कही तो राम मंदिर ट्रस्ट हरकत में आ गया.

विदेशी नागरिक से लिए 2 हजार

चंपत राय ने कहा कोई सुगम दर्शन वीआईपी दर्शन में निवेदन करूंगा दोनों प्रकार के दर्शनों से अपने को बचाओ वीआईपी दर्शन के नाम पर अयोध्या में अनेक लोगों ने कुछ गैर कानूनी काम करने शुरू कर दिए है. मेरे सामने एक विदेश का नागरिक जो भगवान की कृपा से मेरा पुराना परिचित था. वह आकर खड़ा हो गया और कहता है मैं ₹2000 देकर दर्शन करके आया हूं. अयोध्या में किसी भी मंदिर में कभी भी पैसा लेकर दर्शन कराने की कोई परंपरा नहीं है हनुमानगढ़ी में सदा सर्वदा लाखों लोग आते हैं पैसा लेकर दर्शन नहीं होती.

राम जन्मभूमि को प्राण प्रतिष्ठा हुए अभी 2 महीने हुए है. लेकिन लोगों ने तरह-तरह के रास्ते निकाल लिए मैं समाज से निवेदन करता हूं किसी के बुलावे में किसी के शब्दों में पैसा लेकर कोई दर्शन यहां पर नहीं होता. राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने ऐसी कोई योजना नहीं बनाई और किसी को यह अधिकार नहीं दिया. पैसे लेकर दर्शन कराने की घटनाएं जब बढी और श्री राम मंदिर ट्रस्ट तक के पास ऐसी शिकायत पहुंचने लगी तो अयोध्या पुलिस महकमा भी हरकत में आ गया इस मामले में एसएसपी रामकरण नैय्यर ने एक जांच टीम गठित कर दी है.

‘लोगों के बहकावे में न आए’

चंपत राय और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय ने इसके लिए कई टोली बनाकर जांच पड़ताल की अगर कुछ लोग उनके ध्यान में आते हैं तो कानून के अनुसार उनके विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जानी चाहिए. यह अपराधिकृत में मानता हूं भगवान के प्रति और जनता से हाथ जोड़कर निवेदन करूंगा 15 से 20 मिनट बचाने के लिए पैसा मत दीजिए. मेरे ध्यान में यह भी आया है कि आप आठ लोग हैं तो 500 व्यक्ति प्रति व्यक्ति दे दीजिए और मैं दर्शन करा दूंगा. ऐसे किसी भी गलत काम में न फंसे, न ही किसी के बहकावे में आए. यह मेरा निवेदन है.

रामनवमी पर इतनी अधिक भीड़ होगी इस भीड़ का दुरुपयोग अनेक लोग कर सकते हैं लेकिन ऐसे गलत कामों से बचने का काम सबको करना चाहिए और मैं भी बार-बार हाथ जोड़कर निवेदन करूंगा किसी को भी पैसा देकर दर्शन करने की बुलावे में नहीं आना चाहिए. श्री राम मंदिर ट्रस्ट ने सुगम और वीआईपी दर्शन से लोगों को परहेज करने के लिए कहा है ट्रस्ट ने श्रद्धालुओं को यह भी कहां है कि जो आम तरीके से दर्शन करने के लिए जाते हैं उन्हें ही भगवान के दर्शन ज्यादा अच्छे होते हैं इसलिए उन्हें सामान्य भक्त के रूप में भगवान के दर्शन करने चाहिए.